मेरे बड़े --

Wednesday, July 26, 2017

मेरा होमवर्क होता फटाफट

मुझे रोज थोड़ा सा होमवर्क मिलता है, टीचर स्कूल में जो सीखती है वही, घर आकर हाथ,मुँह, धोकर,कपड़े बदल कर मैं होमवर्क कर लेती हूँ फटाफट से...
मुझे इरेज़र से मिटाने में मजा आता है, पर ऐसा करने से होमवर्क करने में बहुत समय लगता है,मेरी नानी ने सिखाया कि होमवर्क बहुत ध्यान से करते हैं ,एक बार ध्यान से लिखने से गलत नहीं होता,मिटाना नहीं पड़ता और होमवर्क फटाफट खत्म हो जाता है,फिर नानी कहानी सुनाती है ...बहुत सारी मुझे सिंड्रेला की कहानी बहुत पसंद है,कल नानी ने सात पूंछ वाली चुहिया की कहानी सुनाई,उससे मैंने सीखा कि- भगवान जी ने सबको अच्छी अच्छी चीज दी है,हमको चिढ़ना और चिढ़ाना नहीं चाहिए....

1 comment:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, " न्यू यॉर्कर बिहारी के मन की बात “ , मे आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete

बस! आपका आशीष बना रहे ...