मेरे बड़े --

Wednesday, July 26, 2017

मेरा होमवर्क होता फटाफट

मुझे रोज थोड़ा सा होमवर्क मिलता है, टीचर स्कूल में जो सीखती है वही, घर आकर हाथ,मुँह, धोकर,कपड़े बदल कर मैं होमवर्क कर लेती हूँ फटाफट से...
मुझे इरेज़र से मिटाने में मजा आता है, पर ऐसा करने से होमवर्क करने में बहुत समय लगता है,मेरी नानी ने सिखाया कि होमवर्क बहुत ध्यान से करते हैं ,एक बार ध्यान से लिखने से गलत नहीं होता,मिटाना नहीं पड़ता और होमवर्क फटाफट खत्म हो जाता है,फिर नानी कहानी सुनाती है ...बहुत सारी मुझे सिंड्रेला की कहानी बहुत पसंद है,कल नानी ने सात पूंछ वाली चुहिया की कहानी सुनाई,उससे मैंने सीखा कि- भगवान जी ने सबको अच्छी अच्छी चीज दी है,हमको चिढ़ना और चिढ़ाना नहीं चाहिए....

Tuesday, July 25, 2017

मायरा vs देवसेना

मायरा (नानी को दुपट्टा देते हुए)- नानी मुझे साड़ी पहना दो।

नानी दुपट्टा लेकर लपेट देती है।

मायरा दुपट्टा निकाल कर फेंक देती है ,नानी पूछती है-क्यों ?क्या हुआ?अच्छी तो पहनाई....

मायरा(गुस्से से)- देवसेना ऐसे नहीं पहनती है! ...

नानी परेशान है,"बाहुबली" देखनी पड़ेगी ।

Saturday, July 8, 2017

पहला दिन नया स्कूल

मायरा की स्कूल से फोन आया - मायरा का पेट दर्द हो रहा है ,आकर ले जाइए।
मम्मा दौड़ी-दौड़ी पहुँची, देखा मायरा मस्त खेल रही है ,फिसलपट्टी पर फिसल रही है...मायरा से पूछा - पेट दुख रहा है?
बोली - नहीं
फिर मम्मा ने टीचर से पूछा-
जबाब मिला- उससे लिखवा रही थी तो रोने लगी - पेट दुख रहा है  बोल के ..और मन डाइवर्ट करने को खेलने दिया ,तब से हँसकर खेल रही है ...😊

स्कूल से वापस भी नहीं आई 👍

पहले दिन मायरा  नए स्कूल गई तो सब स्टॉप पर बाय करने आए

Tuesday, July 4, 2017

नानी विचार

छोटे बच्चों को सिखाने से ज्यादा समझाने पर ध्यान दिया जाना चाहिए,सीख तो वे अपने से ज्यादा लेते हैं ....

#मायरा को सोचते हुए #मायराकीनानी का विचार ..😊

मायरा की टक्कर में नानी

जब ऐसी नातिन हो तो नानी भी तो वैसी ही होनी चाहिए न !!
मेरी नानी मेरे साथ मेरे जैसी बनके खेलती है।
आपकी नानी है मेरे जैसी ? -मायरा

Saturday, July 1, 2017

सेटोनोपेस मायरा

नानी मायरा की माँ से फोन पर - और मायरा स्कूल जाती है ठीक से?
मायरा की माँ-हाँ खूब बढ़िया से जाती है और आते समय भी बस में बच्चों से गपियाती रहती है , 10-15 मिनट लगते हैं स्कूल से घर पहुंचने में ,उसको लगता है अभी बैठे,अभी उतरे इत्ती जल्दी खूब खुश रहती है।
नानी-और कुछ बताती है कि नहीं स्कूल में क्या किया, पूछते रहना ,आदत हो जाएगी बताने की फिर आकर
मायरा की माँ - हाँ 2-3 दिन पहले क्या हुआ सुनो-
(स्कूल से लौटकर माँ और मायरा की बातचीत)
माँ- आ गया मेरा बच्चा! आज क्या बताया मेडम ने
मायरा- "सेटोनोपेस" क्या होता है मम्मा?ये सिखाती है मुझे , मटक-मटक कर बताते हुए...
मम्मा चकरा गई! खूब तरह से पूछा ,पर यही शब्द बोलती रही मायरा ,बताया मेडम मुझे यही बोलती है,आखिरकार माँ ने कहा आप कल ठीक से सुनकर आना ।
अगले दिन स्कूल से लौटने पर-
मायरा- मम्मा "सिट ऑन योर प्लेस" क्या होता है मम्मा?
मम्मा- इसका मतलब होता है-अपनी सीट पर बैठो।
मायरा- इसका मतलब होता है ये! ,यही बोलती है मेडम मुझे दिन भर !!!बोलते ही रहती है !!!
और माँ नानी को फोन पर बताते -बताते भी लोटपोट हुई जा रही थी .... 
#हिन्दी_ब्लॉगिंग